aaj ik aur baras biit gayā us ke baġhair

jis ke hote hue hote the zamāne mere

रद करें डाउनलोड शेर

पानी पर चित्र/छाया शायरी

उर्दू शायरी में पानी

अपने अलग-अलग रूप के बावजूद जीवन के रूपक के तौर पर नज़र आता है । पानी की रवानी असल में जीवन की गतिशीलता का उदाहरण है । अर्थात पानी का ठहर जाना जीवन का ठहर जाना है । पानी का रूपक अपने बहुत से अर्थ की अनिवार्यता की वजह से शायरी और मुख्य रूप से नई शायरी में ख़ूब नज़र आता है । उर्दू शायरी में पानी का रूपक कहीं कहीं ज़िंदगी की ख़ूँ-रेज़ी और तबाही के अर्थ शास्त्र को भी पेश करता है । यहाँ प्रस्तुत चुनिंदा शायरी में पानी के रूपक को देखा जा सकता है ।

Jashn-e-Rekhta | 8-9-10 December 2023 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate - New Delhi

GET YOUR PASS
बोलिए